क्राइम

श्रद्धा मर्डर जैसा हत्‍याकांड: पत्थर काटने की मशीन से लिव इन पार्टनर के किए टुकड़े

हैदराबाद. हैदराबाद में एक 55 वर्षीय महिला पार्टनर की हत्या करने के आरोप में शेयर बाजार के एक ब्रोकर को गिरफ्तार किया गया है. कुछ दिनों पहले डंपिंग यार्ड में पीड़िता का कटा हुआ सिर मिला था, जिसके बाद एक हफ्ते तक चली जांच में एक 48 वर्षीय व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया गया. बताया जा रहा है कि आरोपी ने हत्या करने के बाद अपने पार्टनर के शरीर को पत्थर काटने वाली मशीन से टुकड़ों में काटकर फ्रिज में रखा, उसके बाद अलग-अलग जगहों पर फेंक दिया.

आरोपी ने पीड़िता के पैर और हाथ अपने घर के एक रेफ्रिजरेटर (फ्रीज) में रख दिए थे और दुर्गंध से बचने के लिए उस पर इत्र का छिड़काव किया था. हैदराबाद पुलिस को शहर में मुसी नदी के पास एक कटा हुआ सिर मिला था. इस रहस्य को सुलझाने के बाद गुरुवार को यह चौंकाने वाला अपराध सामने आया. यह मामला दिल्ली के श्रद्धा वालकर और निक्की यादव हत्याकांड से मिलता-जुलता है, जिसमें आरोपियों ने पीड़िताओं के शरीर के अंगों को काटकर फ्रीज में रखने के बाद अलग-अलग जगहों पर फेंका था.

पुलिस ने शेयर बाजार में ऑनलाइन ट्रेडिंग करने वाले अविवाहित बी. चंद्र मोहन को गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की है. 55 वर्षीय आरोपी के 48 साल की यारम अनुराधा रेड्डी के साथ पिछले 15 साल से अवैध संबंध थे. कई साल पहले ही महिला के पति का निधन हो गया था, जिसके बाद उसने एक अस्पताल में नर्स के रूप में काम भी किया था. पीड़िता अनुराधा आरोपी चंद्र मोहन के साथ ही दिलसुखनगर स्थित चैतन्यपुरी कॉलोनी स्थित उसके घर में रह रही थी.

उनके बीच मतभेद तब पैदा हुए, जब चंद्रमोहन ने उससे ऑनलाइन व्यापार करने के लिए लगभग 7 लाख रुपये लिए थे, लेकिन महिला के बार-बार अनुरोध के बावजूद आरोपी पैसे चुकाने में विफल रहा. फिर जब महिला ने उस पर पैसों के लिए दवाब बनाया तो वह उससे रंजिश रखने लगा और उसे जान से मारने की योजना बना ली.

12 मई को आरोपी ने अनुराधा के साथ झगड़ा किया और उस पर चाकू से हमला कर दिया. उसने सीने और पेट पर चाकू से वार किया, जिससे उसकी मौत हो गई. हत्या करने के बाद आरोपी ने शव को टुकड़ों में काटकर ठिकाने लगाने के लिए पत्थर काटने की दो छोटी मशीनें खरीदीं. उसने धड़ से सिर काटकर काले पॉलीथिन के कवर में रख दिया. फिर उसने टांगों और हाथों को धड़ से अलग किया, टांगों और हाथों को रेफ्रिजरेटर में रख दिया और डिस्पोजल के लिए धड़ को एक सूटकेस में रख दिया.

15 मई को आरोपी ऑटोरिक्शा से मुसी नदी के पास पहुंचा और अनुराधा का कटा सिर वहीं फेंककर चला गया. इसके बाद आरोपी ने फिनाइल, डेटॉल, परफ्यूम अगरबत्ती और कपूर खरीदा और उन्हें नियमित रूप से अनुराधा के कटे शरीर के अंगों पर छिड़कता रहा, ताकि आसपास के क्षेत्र में दुर्गंध न फैले. उसने सोशल मीडिया पर शरीर के अंगों को कैसे डिस्पोज किया जाए, इस पर वीडियो भी देखे.

पुलिस के मुताबिक, वह मृतका के मोबाइल फोन से उसके जानने वाले लोगों को यह विश्वास दिलाने के लिए संदेश भेजता रहा कि वह जीवित है और कहीं और रह रही है. 17 मई को मुसी नदी के पास सफाई कर्मचारियों को महिला का कटा हुआ सिर मिला था, जिसकी सूचना उन्होंने पुलिस को दी. सीसीटीवी फुटेज की स्कैनिंग और अन्य तकनीकी उपकरणों के इस्तेमाल से जुड़ी गहन जांच के बाद पुलिस ने आरोपी की पहचान की गई. आरोपी ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है. पुलिस ने पीड़िता के शरीर के अंगों को उसके घर से बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया.

Source

यह समाचार पढिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Live TV