मध्य प्रदेश

राष्ट्रीय लोक संगीत महोत्सव में 51 लोक कलाकार हुए सम्मानित

मान्या पाण्डेय जिले का नाम देश भर में कर रहीं हैं रोशन: अजय प्रताप

लोक संगीतों के माध्यम से सीधी में हो रहा है भारत दर्शन: एसपी

सीधी
शहर में आयोजित तीन दिवसीय राष्ट्रीय लोक संगीत महोत्सव के दूसरे दिन 12 प्रदेशों के लोक कलाकारों ने अपने-अपने प्रदेशों के लोक गीतों की मनमोहक प्रस्तुति देकर श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया। द्वितीय दिवस में महोत्सव के अतिथि अजय प्रताप ङ्क्षसह सांसद राज्यसभा, पुलिस अधीक्षक मुकेश कुमार श्रीवास्तव, वरिष्ट पत्रकार आरबी ङ्क्षसह, मनोज पाण्डेय, संविदाकार शंकर ङ्क्षसह के द्वारा दीप प्रज्वलित किया गया। इस अवसर पर राज्यसभा सांसद अजय प्रताप ङ्क्षसह ने कहा कि लोक गायिका मान्या पाण्डेय की प्रतिभा के कारण आज अपने जिले का नाम पूरे देश में रोशन हो रहा है और अपनी बोली बघेली व लोकगीत देश के कोने-कोने मेें पहुंच रहे हैं। श्री सिंह ने सीधी में राष्ट्रीय लोक संगीत महोत्सव के आयोजन को ऐतिहासिक बताते हुए देश भर से आए सभी लोक कलाकारों को बधाई दी।

इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक मुकेश कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि राष्ट्रीय लोक संगीत महोत्सव का मध्य प्रदेश श्रमजीवी पत्रकार संघ द्वारा आयोजन करने से हम सबको सीधी में बैठे-बैठे भारत दर्शन हो गए और देश भर के लोक संगीत को नजदीक से सुनने एवं देखनें का अवसर प्राप्त हुआ। उन्होने देश की सबसे छोटी लोक गायिका एवं सीधी पुलिस के ब्रांड एंबेस्डर मान्या पाण्डेय तथा बिहार की बाल कलाकार अनन्या पाण्डेय द्वारा जो नशामुक्ति का बघेली में गीत प्रस्तुत किया गया उसकी भूूरि-भूरि प्रशंसा की। बाल दिवस के अवसर पर पुलिस अधीक्षक मुकेश कुमार श्रीवास्तव ने देश भर से आए बाल कलाकारों को पुलिस की ओर से सम्मानित किया। राष्ट्रीय लोक संगीत महोत्सव के द्वितीय दिवस पर जिले के युवा पत्रकार स्व. अटल शुक्ला के स्मृति में जिले के 51 लोक संगीत गायकों को पुलिस अधीक्षक मुकेश कुमार श्रीवास्तव, संविदाकार शंकर ङ्क्षसह, संघ के जिला अध्यक्ष हरीष मिश्रा, आरबी सिंह, मनोज पाण्डेय के द्वारा सम्मानित किया गया। इस दौरान राहुल वर्मा, अतुल शर्मा प्रज्ञा बैट्री, एमपी स्पोर्टस, युवा कांग्रेस सीधी के अध्यक्ष देवेन्द्र सिंह दादू, सोनांचल सेवा समिति सीधी के द्वारा भी देश भर से आए कलाकारों को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर गांधी चौक पार्किंग स्टैंड कार्यक्रम स्थल में भारी संख्या में लोगों की भीड कार्यक्रम के अंत तक मौजूद रही। यहां पहुंचे कलाकारों द्वारा आकर्षक प्रस्तुति देकर श्रोताओं की खूब वाहवाहियां लूटी गई। श्रोताओं द्वारा भी तालियों की गडग़ड़ाहट के साथ कार्यक्रम की उपस्थिति दे रहे कलाकारों की हौंसला आफजाई की गई।

इन कलाकारों ने जमाई संगीत की महफिल

सीधी में आयोजित राष्ट्र्रीय लोक संगीत महोत्सव में संगीत की महफिल सजाने के लिए देश के अलग-अलग प्रांतों से कलाकार पहुंचे थे। इन कलाकारों ने अपनी आकर्षक एवं मनभावन प्रस्तुति देकर श्रोताओं को अपनी कला के प्रतिभा में अंत तक बांधे रखने मेें कोई कोर कसर नहीं छोंड़ा। इसी वजह से राष्ट्रीय लोक संगीत महोत्सव के कार्यक्रम की जिले भर में लोग सराहना कर रहे हैं। राष्ट्रीय लोक संगीत महोत्सव के संयोजक नरेन्द्र बहादुर सिंह ने बताया कि संगीत महोत्सव में देश भर के 22 प्रदेशों के कलाकार शामिल होकर अपने-अपने प्रदेशों की लोक संगीत की मनोहारी प्रस्तुति दें रहे है। उक्त महोत्सव में देश की सबसे छोटी गायिका मान्या पाण्डेय, किशोरी तन्वी लोक गायिका दिल्ली, बैष्णवी निम्बुलकर नागपुर महाराष्ट्र, बाल कलाकार श्रृष्टि राय रांची झारखंड, बाल कलाकार अंशिका सिंह वाराणसी उत्तर प्रदेश, बाल कलाकार प्रगति सिंह महाराष्ट्र, बाल कलाकार अंजली कुमारी गया बिहार, बाल कलाकार अनन्या पाण्डेय पटना बिहार, छोटू राजा लखनऊ उत्तर प्रदेश, शालिनी त्रिपाठी लोक गायिका छत्तीसगढ़, सुरभि सिंह लोक गायिका राजस्थान, बाल कलाकार रितिका पाण्डेय लखिसराय बिहार, नवीन नितेश पाण्डेय लोक गायक वाराणसी उत्तर प्रदेश, गिरिधर कुरवा लोक गायक कर्नाटक, सुभाष राय लोक गायक झारखंड, निरंजन कुमार लोक गायक झारखंड, वादक कपिल तिवारी, सत्यम तिवारी, रविन्द्र तिवारी, पवन शुक्ला, करण कचेर, श्रवण कुमार तिवारी शामिल हैं। बाहर से आए कलाकारों ने अपनी प्रतिभा का रंग जमाते हुए अपने-अपने राज्यों की लोक कला की सराहनीय प्रस्तुति दी। कार्यक्रम में पहुंचने वाले दर्शकों को देश के अलग-अलग राज्यों के लोकगीतों का लुत्फ उठानें का सुनहरा अवसर मिला। जिस वजह से सभी वर्ग के दर्शकों द्वारा प्रस्तुत किए गए गीतों एवं कलाकारों की प्रतिभा की सराहना की जा रही है।

यह समाचार पढिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Live TV