मध्य प्रदेश

ऐसा क्या किया था की सीएम शिवराज ने 4 अधिकारियो को मंच से ही कर दिया ससपेंड

बैतूल. एमपी के सीएम शिवराजसिंह चौहान इन दिनों एक्शन मोड में नजर आ रहे है. वे बैतूल में आयोजित मुख्यमंत्री जनसेवा अभियान के पत्र वितरण व ग्रामसभा में शामिल हुए. जहां पर उन्होने शिकायत मिलने पर चार अधिकारियों को मंच से ही सस्पेंड कर दिया. उन्होने जनमानस से कहा कि किसी को एक रुपया भी मत देना. यदि कोई गड़बड़ी करे तो सूचना सीएम हाउस भेज देना, उसने नौकरी करने लायक भी नहीं रहने दूंगा.

 

सीएम श्री चौहान ने बैतूल के खनिज अधिकारी ज्ञानेश्वर तिवारी, सीएमएचओ एके तिवारी को मौके पर ही सस्पेंड होने के आदेश जारी किए. वहीं बिजली की समस्या के लिए चिचौती में एमपीईबी के जेई पवन बारसकर व साईखेड़ा के जेई राहुल सिंह को भी तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया. सीएम शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि गड़बड़ी करने वाले नहीं बचेंगे, राज जनता का चलेगा. मध्यप्रदेश की धरती पर भ्रष्टाचार मैं किसी भी कीमत पर रहने नहीं दूंगा, यह संकल्प लेकर हम निकले हैं. उन्होंने कहा कि आज इस भरी सभा में कह रहा हूं मेरे प्रधानमंत्री ने कहा है कि न खाऊंगा न खाने दूंगा. सीएम श्री चौहान ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि पेसा एक्ट के तहत पहला अधिकार जमीन का अधिकार है. ग्राम सभा बनेगी, जिसमें बहनें भी शामिल होंगी. हर साल ग्राम सभा में जमीन का नक्शा रखेंगे. जिससे आपको पता चलेगा कि कौन सी जमीन किसकी है. तो यदि किसी ने जमीन इधर-उधर की तो आपको पता चल जाएगा. पटवारी व तहसीलदार तुरंत पकड़ा जाएगा. अगर अनुसूचित क्षेत्र में यदि कोई प्रोजेक्ट आना है, कोई काम के लिए सरकारी जमीन लेनी है, तो सरकार दादागिरी करके वो जमीन नहीं ले सकती. पहले मामला ग्राम सभा में जाएगा. ग्राम सभा तय करेगी की जमीन देनी है या नहीं.

 

धर्मान्तरण का कुचक्र नहीं चलने देगेें-

सीएम श्री चौहान ने कहा कि देखने में आता है कि कुछ लोग धोखाधड़ी कर धर्म बदलकर जमीन बदल लेते हैं. मैं एमपी में धर्मांतरण का कुचक्र नहीं चलने दूंगा. यदि गलत तरीके से आदिवासी की जमीन लेने की कोशिश की तो उसकी जमीन वापस दिलाई जाएगी और आरोपियों को सजा दी जाएगी.

ग्राम सभा चाहेगी तो खुलेगी शराब की दुकान-

सीएम श्री चौहान ने यह भी कहा कि अधिसूचित क्षेत्र में कोई भी नई शराब की दुकान खुलने की बात होगी तो वह ग्राम सभा ही तय करेगी. ग्राम सभा ही तय करेगी कि जिस दिन शराब की दुकान बंद रहेगी तो कलेक्टर व एसपी उस दिन को ड्राय डे घोषित करेगें. गांव में बाजार आदि के प्रबंधन का अधिकार ग्रामसभा का होगा. आंगबनाड़ी ठीक चले यह ग्रामसभा देखेगी, यह अधिकार मैं आपको दे रहा हूं. पेसा की हर सभा में एक तिहाई बहनें होंगी. शांति निवारण समिति बनेगी. छोटे-मोटे विवाद का हल अब पुलिस नहीं करेगी.

Source.www.palpalindia.com

यह समाचार पढिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Live TV