मध्य प्रदेश

तीन लाख रिश्वत के मामले की जाँच में लीपापोती का आरोप

मामला महिला एवं बाल विकास विभाग का

 

 

काल चिंतन कार्यालय
वैढ़न,सिंगरौली। एकीकृत महिला एवं बाल विकास योजना के तहत तीन से छ: वर्ष के बच्चों को आंगनवाड़ी केन्द्रों पर भोजन पहुंचाने के लिए समूहों को काम देने की एवज में विभाग के कार्यक्रम अधिकारी राजेश गुप्ता पर चार समूहों के संचालकों ने तीन लाख रूपये रिश्वत लेने का आरोप लगाया था। उक्त आरोप के मामले में कलेक्टर द्वारा पाँच सदस्यीय जाँच कमेटी का गठन किया गया था।

जाँच कमेटी द्वारा शिकायतकर्ताओं के द्वारा शपथ पत्र के रूप में बयान दर्ज करवाया गया था। इसी प्रकार जाँच समिति ने शिकायतकर्ता मुघुन कोल पति स्व. दुर्जन कोल निवासी सिंगरौलिया तथा जितेन्द्र कुमार तिवारी निवासी सिंगरौलिया से शपथपत्र के रूप में गवाही दर्ज की गयी थी। कार्यवाही के कई दिन बीत गये परन्तु कुछ पता नहीं चल पा रहा है।

उक्त मामले में शिकायतकर्ता ने जाँच समिति पर आरोप लगाया है कि वह अधिकारियों के दबाव तथा राजनीतिक दबाव के चलते मामले को ठण्डे बस्ते में डाल दिया गया है जिससे गरीब महिलाओं को न्याय नहीं मिल रहा है।

यह समाचार पढिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Live TV