मध्य प्रदेश

शिवराज बोले- हर गरीब का पक्का मकान बनेगा

टीकमगढ़ में दस हजार लोगों को राज्य सरकार ने दिए प्लॉट

टीकमगढ़

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान बुधवार को टीकमगढ़ जिले में मुख्यमंत्री आवासीय भू-अधिकार योजना के तहत 129.37 करोड़ रुपये लागत के आवासीय भू-खंडों के वितरण कार्यक्रम में शामिल हुए और हितग्राहियों को भू-स्वामी अधिकार पत्रों का वितरण किया। योजना के तहत टीकमगढ़ में 10500 परिवारों को भूखंड दिया गया। इसके साथ ही सीएम ने टीकमगढ़ में भू-अधिकार पत्र वितरण कार्यक्रम में 255 करोड़ रुपये अधिक लागत की ‘बान सुजारा समूह जल प्रदाय योजना’ का शिलान्यास भी किया। इस दौरान सीएम चौहान ने महिला सरपंच प्रतिनिधियों को कलश सौंपे। इधर ये तमाम कवायद को अब चुनावी चश्मे से भी देखा जाने लगा है।

सीएम शिवराज ने टीकमगढ़ वासियों को संबोधित करते हुए कहा कि हमने मुख्यमंत्री जन सेवा अभियान में पंचायतों में शिविर लगा कर योजनाओं का लाभ प्रदान करने का काम किया। टीकमगढ़ जिले में 1 लाख 52 हजार आवेदन मिले, जिसमें से 1 लाख 44 हजार आवेदन स्वीकृत हुए हैं। घर बनाने के लिए जितनी जमीन चाहिए उतनी जमीन हम हितग्राहियों को प्रदान करेंगे। जहां शासकीय जमीन होगी वहां शासकीय जमीन देंगे और जहां नहीं होगी वहां खरीदकर प्लॉट देंगे। इन प्लॉट्स पर मकान निर्माण करवाने का महाअभियान भी जल्द प्रारंभ किया जाएगा। प्रधानमंत्री आवास योजना, मुख्यमंत्री जन आवास योजना के अंतर्गत हर गरीब का पक्का मकान बनेगा, कोई घास-फूस की झोपड़ी में नहीं रहेगा। सीएम ने कार्यक्रम के दौरान लाभार्थियों के साथ मैदान में बैठ कर चर्चा की और उनके घरों से लाए गए भोजन को उनके साथ बैठ कर ग्रहण किया।

सीएम शिवराज ने कहा कि जिन भाई-बहनों को यह प्लॉट मिल रहे हैं, उन्हें मेरी ओर से शुभकामनाएं। अन्य योजनाओं का लाभ भी उन्हें मिले और उनका जीवन सुखी हो। इतना अधिकार तो उन्हें है कि जब भगवान ने उन्हें इस धरती भेजा है तो उनके रहने की जगह अपनी हो। मुख्यमंत्री भू आवासीय अधिकार योजना इस जरूरत को पूरा करेगी। मध्यप्रदेश की धरती पर कोई भी गरीब आवासीय जमीन के बिना नहीं रहेगा। हम मुख्यमंत्री भू आवासीय अधिकार योजना बनाएंगे और ग्रामीण क्षेत्रों में गरीब भाई-बहनों को निःशुल्क प्लॉट देंगे।टीकमगढ़ से मैं प्लॉट वितरण प्रारंभ कर रहा हूं। इन प्लॉट पर वह अपना घर बना सकेंगे।

मध्यप्रदेश के टीकमगढ़ जिले के दो गांवों के नाम बदले गए हैं। नए नाम और नाम बदलाव के संबंध में गजट नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया है। अब शिवपुरी गांव का नाम बदलकर कुंडेश्वर धाम किया गया है. इसके साथ ही अचर्रा गांव का नाम बदलकर आचार्य धाम किया गया है। बता दें कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान टीकमगढ़ में आवासीय भू-खंडों के वितरण कार्यक्रम में शामिल हुए और हितग्राहियों को भू-स्वामी अधिकार पत्रों का वितरण किया। शिवराज ने कहा कि रोटी, कपड़ा, मकान, पढ़ाई, दवाई और रोजगार यह व्यक्ति की मूलभूत जरूरत है। हम इन सभी आवश्यकताओं की पूर्ति में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।

सीएम ने कहा कि कुंडेश्वर धाम शिवपुरी था। शिवपुरी गांव का नाम बदलकर कुंडेश्वर धाम किया गया है। इसके साथ ही अचर्रा गांव का नाम आचार्य धाम किया जाता है। मुख्यमंत्री शिवराज ने टीकमगढ़ जिले के प्रसिद्ध सिद्धपीठ बगाज माता मंदिर में विधि-विधान से पूजा-अर्चना कर मैया से प्रदेशवासियों के सुख, समृद्धि एवं खुशहाली की कामना की।

source

यह समाचार पढिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Live TV