मध्य प्रदेश

जबलपुर में आदिवासी बालिका का अपहरण कर गैंगरेप..!

जबलपुर. मध्यप्रदेश के जबलपुर स्थित चरगवां क्षेत्र में एक सनसनीखेज घटनाक्रम सामने आया है. आदिवासी बालिका का उस वक्त अपहरण कर लिया गया, जब वह अपनी मौसी के घर जा रही थी. मोटर साइकल सवार दोनों युवकों ने जंगल में ले जाकर बालिका के साथ गैंगरेप किया. इस घटनाक्रम में एक और युवक शामिल रहा, जिसने दोस्तों की मदद की. बदहवास बालिका किसी तरह अपनी मौसी के घर पहुंची और गैंगरेप की जानकारी दी. इसके बाद थाना पहुंचकर पुलिस में शिकायत की है. पुलिस ने देर रात की प्रकरण दर्ज का आरोपियों की सरगर्मी से तलाश शुरु कर दी है. जिन्हे पकडऩे के लिए पुलिस की टीमें संभावित ठिकानों पर दबिश दे रही है.

पुलिस के अनुसार चरगवां में रहने वाली आदिवासी बालिका उम्र 12 वर्ष रविवार की शाम 5 बजे के लगभग अपनी मौसी के घर जाने के लिए निकली. जब वह नहर किनारे रास्ते से जा रही थी. इस दौरान गांव का परिचित पंचम ठाकुर अपने दो साथी ब्रजेश व बाली ठाकुर के साथ पहुंच गया. जिन्होने पूछताछ के बाद कहा कि तीनों ने मौसी के घर छोडऩे का कहकर बाइक में बिठा लिया, इसके बाद जंगल के रास्ते चल दिए. रास्ता बदलने से बालिका घबरा गई, उसने विरोध करते हुए बाइक रोकने के लिए कहा लेकिन तीनों युवकों ने बाइक नहीं रोकी और सीधे जंगल में ले गए. जहां पर पंचम व ब्रजेश ठाकुर ने धमकी देते हुए बालिका के साथ रेप किया. वहीं तीसरा साथी बाली ठाकुर ने दोस्तो की मदद की. इस बीच बालिका ने पंचम व ब्रजेश ठाकुर का विरोध किया तो उसके साथ जमकर मारपीट की गई. घटना को अंजाम देने के लिए बाद तीनों आरोपी धमकी देते हुए मौके से भाग निकले. इधर बेटी के घर न पहुंचने से परिजन घबरा गए, उन्होने अपने स्तर पर तलाश की लेकिन कहीं पता नहीं चल सका. देर रात तीन बजे के लगभग बालिका बदहवास हालत में अपनी मौसी के घर पहुंची. जिसे देख परिजन घबरा गए, जिनके पूछने पर बालिका ने अपने साथ हुए घटनाक्रम की जानकारी दी. खबर मिलते ही माता-पिता भी पहुंच गए, जिनके साथ थाना पहुंचकर बालिका ने अपने साथ हुए घटनाक्रम की शिकायत दर्ज कराई. चरगवां पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए प्रकरण दर्ज कर बालिका को उपचार के लिए शहपुरा के शासकीय अस्पताल पहुंचाया. इसके बाद आरोपियों की सरगर्मी से तलाश शुरु कर दी है. पुलिस की टीमें आरोपियों को पकडऩे के लिए संभावित ठिकानों पर दबिश दे रही है.

एक आरोपी को पहचानती थी पीडि़ता-

पुलिस को पूछताछ में पीडि़ता ने बताया कि एक आरोपी पंचम ठाकुर से करीब एक माह पहले ही परिचय हुआ था. जब वह मौसी के घर जा रही थी तभी पंचम ठाकुर मोटर साइकल से पहुंच गया. जिसने मोटर साइकल से मौसी के घर छोडऩे का झांसा दिया. परिचित होने के कारण वह बाइक में बैठ गई इसके बाद उसके साथी आ गए और जंगल ले गए.
Source

यह समाचार पढिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Live TV