मध्य प्रदेश

विकास की बाट जोह रही विकास यात्रा

अधूरे विकास कार्यों पर पीटा जा रहा झूठ का ढिंढोरा?

काल चिंतन संवाददाता
बड़गड़,सिंगरौली।  मप्र की भाजपा सरकार द्वारा प्रदेश सहित जिले में विकास यात्रा निकाली जा रही है। विकास यात्रा शहरी क्षेत्रों से लेकर ग्रामीण इलाकों में पहुंच रही है सरकार की योजनाओं का बखान किया जा रहा है तथा कार्यों का लोकार्पण हो रहा है। जनता को यह बताने का प्रयास किया जा रहा है कि मप्र सरकार जनता के हित में कल्याणकारी योजनाएं चलाकर सिंगरौली को सिंगापुर बना चुकी है परन्तु जमीनी हकीकत इससे इतर देखने को मिलती है।

मंगलवार को देवसर विधानसभा में विधायक सुभाष बर्मा के नेतृत्व मे आज देवसर की 6 पंचायतो में पहुची। ग्राम पंचायत कुम्हियां, भंवरखोह, जोगियानी, बड़गड़, करामी, भाऊखाड़ में विकास यात्रा को ग्रामीणो द्वारा उत्साह के साथ स्वागत किया गया। इस दौरान विधायक श्री बर्मा के द्वारा पात्र हितग्राहियो को संबल कार्ड आयुष्मान कार्ड , खाद्यान्न पात्रता पर्ची सहित लाड़ली लक्ष्मी योजना के हितलाभ वितरित किए गए। विकास यात्रा के दौरान विधायक श्री बर्मा के द्वारा विभिन्न निर्माण कार्यो का शिलान्यास भूमि पूजन एवं लोकापर्ण किया गया। साथ आम नगारिको के साथ संवाद कर शासन की जन कल्याणकारी योजनाओ के संबंध में विस्तार से अवगत कराया गया।

विकास यात्रा को लेकर जब ग्रामीणों से काल चिन्तन ने वार्ता की तो उनका जवाब कुछ दूसरा सुनने को मिला। ग्रामीणों ने बताया कि आज से लेकर एक दशक पूर्व राजेन्द्र मेश्राम के जमाने में बड़गड़ हाईस्कूल से मकराद्वारी बार्डर तक ३ किमी प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत बननी थी। इंजीनियर जांच किये परन्तु उक्त सड़क अब तक नहीं बनी। इसी तरह बड़गड़ शासकीय हाईस्कूल से मदरहवा टोला तक लगभग तीन किलोमीटर की सड़क बननी थी, इंजीनियर द्वारा जांच की गयी। कई बार जनप्रतिनिधि मौके पर पहुंचे ग्रामीणों को आश्वासन दिये परन्तु उक्त सड़क भी अब तक नहीं बन सकी।  ग्रामीणों ने इस संबंध में कई बार देवसर विधायक सहित उनके प्रतिनिधियों से भी बात की परन्तु उसका नतीजा आज तक नहीं निकल सका। ग्रामीणों ने बताया कि शासकीय हाईस्कूल बड़गड़ विद्यालय को १२वीं तक किये जाने का आश्वासन ५ साल पहले तात्कालीन विधायक सुभाष रामचरित्र ने दिया था परन्तु विद्यालय का उन्नयन आज तक नहीं हो सका।

ग्रामीणों ने यह भी बताया कि गरीब भगवान लाल वैश्य ग्राम केन्द्र संयोजक का एक्सीडेंट जोगियानी में हुआ जिनकी मौत इलाज के दौरान जबलपुर में लगभग तीन साल पहले हो गयी। असहाय परिवार जनों ने विधायक से कई बार सहायता राशि के लिए मिन्नते कीं परन्तु अब तक उन्हें मात्र आश्वासन ही मिलता रहा। इसी तरह राहुल कुमार वैश्य पिता अनिल कुमार वैश्य की कैंसर से कोरोना काल में मौत हो गयी। इस संबंध में भी सहायता राशि दिलाये जाने की देवसर विधायक से मांग की गयी परन्तु आश्वासन के सिवा आज तक कुछ भी नहीं मिला।
विकास यात्रा में सरकार की योजनाओं का बखान सुन

रहे एक ग्रामीण ने बताया कि भाजपा पिछड़ा वर्ग माड़ा मण्डल अध्यक्ष रमाकांत यादव के पुत्र अनिल कुमार के सारे अंग काम करना बंद कर दिये। जबलपुर में इलाज हुआ आयुष्मान कार्ड होते हुये उन्होने अपना इलाज खुद के पैसे से कराया। विधायक देवसर से मिन्नते की गयी की कम से कम वहां से आने का भाड़ा प्रदान किया जाये परन्तु कोई सहायता नहीं प्रदान की गयी।

विकास यात्रा में शामिल एक अन्य व्यक्ति ने बताया कि देवसर विधानसभा में २०१७ के चुनाव के दौरान देवीशरण शाह की जायलो गाड़ी क्रमांक डब्ल्यूबीआर ५४५१६२ चुनाव प्रचार के लिए देवसर विधायक द्वारा १५ दिन के लिए भाड़े पर ली गयी थी परन्तु आज दिनांक तक उसका भुगतान नहीं हो सका। वाहन मालिक ने इस संबंध में कई बार गुजारिश की परन्तु अब तक उसका भुगतान नहीं किया गया। ग्रामीणों ने बताया कि जोगियानी में नल जल योजना से पानी नहीं पहुंचता है। विद्यालयों में शिक्षक समय से नहीं पहुंते। मध्यान्ह भोजन गुणवत्ताविहीन मिलता है। गांव में हजारों समस्याएं हैं परन्तु सरकार के नुमाइंदे उसे न सुनकर योजनाओं का बखान करने में जुटे हुये हैं। ग्रामीणों ने यह भी बताया कि मनरेगा और पंच परमेश्वर योजना से किये गये कार्यों को विधायक द्वारा खुद की योजना बताकर गिनाया जा रहा है। मप्र में विधानसभा चुनाव आने को है। पूरे प्रशासन को विकास यात्रा की जुआठ पहना दी गयी है। वजन कितना भी हो खींचना ही होगा। जनता का काम कितना भी प्रभावित हो कार्यालय छोड़कर विकास यात्रा में शामिल होना होगा।

यह समाचार पढिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Live TV