मध्य प्रदेश

हिंडालको महान ने स्तनपान जागरूकता कार्यक्रम में सैकड़ो धात्री महिलाओं को किया जागरूक

वैढ़न,सिंगरौली। अगस्त माह में 1 से 7 तारीख तक वर्ल्ड ब्रेस्टफीडिंग वीक मनाया जा रहा है ,हिंडालको महान के सी.एस.आर.विभाग द्वारा सामाजिक जागरूकता अभियान के माध्यम से स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करने का अभियान चलाया जा रहा है, जिसके तहत हिंडालको महान के कम्पनी प्रमुख सेन्थिलनाथ व मानव संसाधन प्रमुख बिश्वनाथ मुखर्जी के नेतृत्व में ग्राम बड़ोखर व ग्राम मझिगवा में स्तनपान जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया जिसमें हिंडालको महान के सी.पी.पी.विभाग से प्रेरणा,सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी संध्या द्विवेदी,व प्रियंका कोल ने स्तनपान जागरुकता शिविर में लोगो को स्तनपान के फायदे बताये,कार्यक्रम का संचालन करते हुये सी.एस.आर.विभाग से बीरेंद्र पाण्डेय ने बताया कि इस कार्यक्रम का मकसद हाल-फिलहाल मां बनी महिलाओं को स्तनपान के फायदों से वाकिफ कराना है। ब्रेस्टफीडिंग से बच्चे ही नहीं मां को भी मिलते हैं कई सारे लाभ,वही हिंडालको महान से प्रेरणा ने बताया कि इसे मनाने का मकसद महिलाओं को ब्रेस्टफीडिंग के लिए प्रोत्साहित करना, साथ ही इससे जच्चा व बच्चा दोनों को होने वाले स्वास्थ्य लाभ के प्रति जागरूक करना है। ब्रेस्टफीडिंग के एक या दो नहीं बल्कि कई सारे फायदे होते हैं। मां के दूध में बच्चे के लिए सभी जरूरी पोषण तत्व भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं।

कार्यक्रम में डगा की स्वास्थ्य अधिकारी संध्या ने बताया कि मां का दूध छोटे बच्चों के लिए संपूर्ण आहार है, जिसमें बच्चे को सेहतमंद रखने और उनके उचित विकास के लिए सभी पोषक तत्व मौजूद होते हैं। मां का दूध बच्चों को बचपन में होने वाली कई बीमारियों से महफूज रखता है।वही बड़ोखर की स्वास्थ्य कार्यकर्ता ने बताया किस्तनपान कराने से प्रेग्नेंसी के दौरान बढ़ा हुआ वजन आसानी से कंट्रोल किया जा सकता है। स्तनपान कि वजह से मां के हार्मोन्स संतुलित रहते है शारीरिक परेशानियों के साथ ही कील- मुंहासों के होने की संभावना भी कम रहती है। स्तनपान कराने से नींद अच्छी और गहरी आती है। कार्यक्रम के अंत मे सी.एस.आर.विभाग द्वारा आये हुये धात्री महिलाओं को स्वास्थ्य वर्धक प्रोटीन पाउडर प्रदान किया गया,वही कार्यक्रम को सफल बनाने में आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओ सहित हिंडालको महान के सी.एस.आर.विभाग से भोला वैश्य, जियालाल, संजीव, खललू,व अरविन्द वैश्य का योगदान रहा।

यह समाचार पढिए

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Live TV