राष्ट्रीय

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सलखन, लाखों रुपए की लागत से लगा सोलर प्लांट हुआ निष्क्रिय विभाग बना मौन

जच्चा-बच्चा के रात्रि के समय डिलेवरी के समय मोमबत्ती का लेना पड़ता है सहारा

 

 

काल चिन्तन संवाददाता,
सलखन सोनभद्र। सदर विकास खण्ड क्षेत्र के अन्तर्गत सलखन न्याय पंचायत क्षेत्र के अन्तर्गत 15 ग्राम सभाओं व गुरमा नगर पंचायत के आबादी के बीच मात्र एक नया प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सलखन स्थापित है। जो आज भी विभागीय अधिकारियों के उदासीनता के कारण दुर्ब ब्यवस्था के कारण आंसू बहा रहा है। दो सप्ताह से डाक्टर विहिन स्वास्थ केन्द्र एक कम्पाउण्डर एक नर्स के सहारे चल रहा है। गरीब निरिह पहाड़ी ग़ामीण अंचलों के मरीजों को सरकारी डॉक्टर के अभाव में नीम हकीम झोलाछाप डॉक्टरों के चंगुल में फंसकर शोषण के शिकार हो रहे हैं।

बड़े मजे की बात है ठीक प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के ठीक सामने आपनी दुकान खोलकर बैठ गए है। जब कि उसी सामने से डॉक्टरो का आना जाना है ठीक मेन गेट के बाहर डॉक्टरी खुली है। उक्त सम्बन्ध में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सलखन कम्पाउण्डर हेमंत शर्मा,पुष्पा ,तारा देवी,सितारा देवी ने बताया कि , सन् 2018,19 में नया प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में 6लाख67 हजार रूपए के सोलर प्लांट भी लगाया गया था। जिससे स्वास्थ विभाग की व्यवस्था सुचारु रूप से चल रहा है इसे लेकर आठ, नौ माह से सोलर पावर प्लांट तकनीकी खराबी के कारण रात में कार्य नहीं कर रहा। जिससे रात्रि में घटना दुर्घटना के साथ महिलाओं को जच्चा-बच्चा डिलेवरी के समय बिजली न रहने पर मोमबत्ती का सहारा लेना पड़ता है।इसी क्रम में हेमंत शर्मा ने बताया कि सोलर पावर प्लांट के तकनीकी खराबी के सम्बन्ध में सम्बन्धित विभागीय अधिकारियों को पत्राचार और मौखिक रूप से भी बताया गया है। लेकिन आज तक कोई पहल नहीं की गई। उक्त सम्बन्ध में जिलाधिकारी का ध्यान अपेक्षित है।

यह समाचार पढिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Live TV