Uncategorized

मादक पदार्थों के क्रय विक्रय पर प्रभावी अंकुश लगाने पुलिस द्वारा किये जायेंगे हरसंभव प्रयास: पुलिस अधीक्षक

पुलिस अधीक्षक सिंगरौली मो. यूसुफ कुरैशी की जिले में समाज के नवनिर्माण में नशा मुक्ति अभियान एक सराहनीय पहल

 

वैढ़न,सिंगरौली। पुलिस अधीक्षक सिंगरौली मो. यूसुफ कुरैशी ने कहा कि ऐसे परिजन अपनी शिकायत लेकर समक्ष में उपस्थित होते है कि उनके बच्चे नशे के आदि हो गये और जिसके कारण से पूरे परिवार को अत्यन्त कठिनाई का सामना करना पड रहा है। पुलिस अधीक्षक नें उक्त समस्या के निदान के लिये पुलिस-प्रशासन के द्वारा हर संभव प्रयास किये जाने एवं प्रभावी कार्ययोजना तैयार किये जाने के निर्देश समस्त राजपत्रित अधिकारी एवं थाना प्रभारियों को दिये गये। पुलिस अधीक्षक श्री मो. यूसुफ कुरैशी द्वारा बताया गया कि माननीय मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान जी की मंशा और निर्देश है कि नशा मुक्त मध्यप्रदेश बनाना है। माननीय मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार जिले में भी मादक पदार्थो की तस्करी में लिप्त लोगो के खिलाफ कठोरतम कार्यवाही किये जाने की कार्ययोजना तैयार की जा रही है। जो लोग भी इस अवैध करोबार में लिप्त है उनको चिन्हित कर कार्यवाही की जायेगी और अवैध रूप से अर्जित की गई सम्पत्ति को भी जप्त किये जाने की कार्यवाही की जायेगी।

पुलिस अधीक्षक श्री मो. यूसुफ कुरैशी द्वारा बताया गया कि मादक पदार्थ के क्रय विक्रय पर प्रभावी अंकुश लगाये जाने हेतु निरंतर रूप से अभियान चालाया जायेगा। तस्करों के बारे में अभी तक जो जानकारियॉ सामने आ रही है, उसके मुताबिक जिले में सबसे अधिक मादक पदार्थ की तस्करी छत्तीगढ एवं उत्तरप्रदेश राज्य के सीमावर्ती जिलो के तस्करो द्वारा चोरी छीपे मादक पदार्थ की खेप सिंगरौली जिले में भेजी जाती है। जिसमें से मुख्यत: स्मैक, हिरोईन, गॉजा एवं कोडिन युक्त कफ सिरफ है। पुलिस अधीक्षक श्री मो. यूसुफ कुरैशी द्वारा बताया गया कि जिला सिंगरौली उत्तर में जिला मिर्जापुर (उत्तर प्रदेश.), पूर्व में जिला सोनभद्र (उत्तर प्रदेश.), दक्षिण में जिला बलरामपुर, सूरजपुर, व कोरिया (छ.ग.) स्थित हैं। इन क्षेत्रो में सघन चेकिंग की जायेगी ताकि बाहर से आने वाले मादक पदार्थो पर प्रभावी रूप से अंकुश लगाया जा सके। संबंधित सीमावर्ती राज्य के पुलिस से समन्वय स्थापित कर संयुक्त रूप से कार्यवाही की जायेगी। पुलिस अधीक्षक सिंगरौली श्री मो. यूसुफ कुरैशी के द्वारा जिले में नशा के विरूद्ध प्रभावी कार्यवाही हेतु ऐसे स्थान चिन्हित किये जायेगे जहॉ से नशा का करोबर होता है एवं तस्करो के द्वारा मादक पदार्थ का क्रय विक्रय किया जाता है, उन स्थानो पर सघन रूप से चेकिंग एवं पुलिस की पेट्रोलिंग बढाई जायेगी। पुलिस अधीक्षक सिंगरौली श्री मो. यूसुफ कुरैशी द्वारा बताया गया कि नशे और उसके कारोबार पर नियंत्रण के लिए नई तकनीक का उपयोग किया जायेगा। असूचना तंत्र को प्रभावी रूप से सक्रिय एवं सुदृढ़ किया जायेगा। युवा वर्ग को जागरूक करने के लिए गॉव/मोहल्ला/शहर में नियमित रूप से जन-जागरूकता अभियान एवं नुक्कड नाटक का आयोजन किये जायेगे।

थाना स्तर में मादक पदार्थ के विरूद्ध की गई कार्यवाही की प्रतिदिन होगी समीक्षा: पुलिस अधीक्षक द्वारा बताया गया कि जिले में विशेष अभियान चलाया जाकर मादक पदार्थ के विरूद्ध प्रभावी कार्यवाही हेतु पुलिस के द्वारा सभी तैयारियॉ की जा रही है। साथ ही जिले के अलग-अलग थाना क्षेत्रो में प्रतिदिन मादक पदार्थ के विरूद्ध की गई कार्यवाही की समीक्षा एवं उसका एनलाईज कर डाटा तैयार किया जायेगा, जिसके तहत मादक पदार्थो की तस्करी में लिप्त व्यक्तियों के नेटवर्क की जानकारी एकत्र कर उनके विरूद्ध शख्त कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी।
पुलिस के द्वारा की जायेगी काउसलिंग: पुलिस अधीक्षक द्वारा यह भी बताया गया कि नशे के गिरफ्त में फसे युवाओं को नशा न करने की समझाईश एवं शपथ दिलाई जायेगी तथा नशे से दूर रहने के लिये प्रेरित भी किया जायेगा। जो बच्चे जाने-अनजाने में नशे की चुंगल में फस गये है, एसे व्यक्तियों एवं बच्चो के परिजन पुलिस के पास स्वतंत्र रूप से जाकर काउंसलिंग करा सकते है। पुलिस के पास काउसलिंग के लिए आने वाले लोगो की जानकारी पूर्णत: गुप्त रखी जायेगी।

आमजन से अपील: पुलिस अधीक्षक द्वारा श्री मो. यूसुफ कुरैशी द्वारा आमजन से अपील की गई है कि नशे के कारण, जहां लोग अपना शरीर बर्बाद कर रहे हैं। वहीं कई बार नशा घरों के टूटने का कारण भी बन रहा है। नशे के खिलाफ हमस ब को एकजुट होकर लड़ाई लड़नी होगी। तभी हम अपने बच्चों को नशे से बचा सकते हैं। नशा समाज के लिए बहुत घातक है। पुलिस अधीक्षक श्री मो. यूसुफ कुरैशी द्वारा बताया गया कि नशे की शुरूआत आमतौर युवावस्था से होती है। पहले शौक-शौक में पीना शुरू करते हैं और फिर अपनी आदत बना लेते है। नशा एक बड़ी सामाजिक बुराई है, जो शारीरिक और मानसिक एवं आर्थिक स्थिति को अत्यन्त कमजोर बना देती है और काफी नुकसानदेह है।

आमजन इस विशेष अभियान में पुलिस का दे सहयोग : पुलिस अधीक्षक द्वारा बताया गया कि नशे के खिलाफ लोगों को समय समय पर जागरूक करना होगा। वही नशे का कारोबार करने वाले लोगों पर पुलिस का शिकंजा कसना नितांत होगा। पुलिस की तस्करों पर निरंतर कार्रवाई की जायेगी जिसमें आपजन के सहयोग की जरूरत होगी।
प्रत्येक परिजन का कर्तव्य अपने बच्चे पर नजर रखे: पुलिस अधीक्षक द्वारा बताया गया कि कई बार गलत संगत भी युवाओं को नशे का आदि बना देती। मां-बाप को अपने बच्चों की हरकत पर नजर रखनी चाहिए। ऐसा करने से हमें पता लगता रहता है कि हमारा बच्चे कैसी संगत में रह रहा है। उसका उस पर क्या असर हो रहा है।

एन.जी.ओ. एवं समाजसेवी संगठनो से भी अपील: स्मैक व अन्य मादक पदार्थो की गिरफ्त में आये लोगो को नशे की लत से मुक्त कराने के लिये जिले में संचालित कार्यरत एन.जी.ओ./समाजसेवी संग्ठन से भी अपील की जा रही है कि पुलिस द्वारा चलाये जा रहे नशा मुक्ति अभियान में अपना सहयोग दें ताकि जिले को नशा मुक्त बनाया जा सके।

यह समाचार पढिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Live TV